UP Board Exam New Update 2022-23:यूपी बोर्ड परीक्षा में लागू होंगे नए नियम करना होगा पालन सरकार ने दिए आदेश

 

UP Board Exam New Update 2022-23 यूपी बोर्ड परीक्षा में लागू होंगे नए नियम करना होगा पालन सरकार ने दिए आदेश

 

UP Board Exam New Update 2022-23 नमस्कार दोस्तों जैसा कि आप जानते हैं। UP Board Exam  हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं नजदीक आ गई है उत्तर प्रदेश में 10वीं एवं 12वीं की परीक्षाएं 16 फरवरी से शुरू हो रही है माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के निर्देशन मे परीक्षार्थियों को अलग-अलग प्रकार की भ्रांतियों से दूर रखना महत्वपूर्ण कदम मर गया है। उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षाओं में लगभग परीक्षार्थियों की संख्या 59 लाख से अधिक माना गया है इन सभी छात्र छात्राओं को दो दो पारियों में परीक्षा कराने का निर्देश दिया गया है। pmyojnaup.com छात्रों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो अलग-अलग प्रकार के कड़े इंतजाम किए गए हैं UP Board Exam New Update 2022-23  कक्ष निर्देशक के लिए भी बहुत कड़े इंतजाम किए गए हैं अलग-अलग कक्षाओं में है सीसीटीवी कैमरा एवं वॉइस रिकॉर्डिंग का भी पक्का इंतजाम किया गया है। हर एक प्रकार की नकल सामग्रियों को विद्यालय से पहले ही सर्च कर लिया जाएगा।

UP Board Exam New Update 2022-23
                                               UP Board Exam New Update 2022-23

 

उत्तर प्रदेश सरकार ने जब से माध्यमिकUP Board Exam शिक्षा परीक्षा बोर्ड को यह कड़े निर्देश दिए गए हैं। किसी भी प्रकार की नकल सामग्री परीक्षा कक्ष में ना पहुंच पाए इसी को मद्देनजर रखते हुए माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने भी अपने को का इंतजाम कर लिए हैं सभी विद्यालय के प्रधानाचार्य एवं कक्ष निरीक्षक को कड़े निर्देश दिए हैं। 10वीं एवं 12वीं बोर्ड दो पारियों में कराई जाएंगी प्रथम पाली एवं द्वितीय पाली में बांटा गया है प्रथम पाली सुबह 8:00 बजे से 11:15 तक दसवीं बोर्ड की परीक्षाएं कराई जाएगी तथा दोपहर 2:00 से शाम 5:15 तक में इंटरमीडिएट की परीक्षाएं कराई जाएंगी ।

प्रयागराज बोर्ड ने नियमों में किया बदलाव :-

 

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज बोर्ड ने परीक्षा सही प्रकार से कराने के लिए नियमों में अलग-अलग प्रकार के बदलाव किए हैं बोर्ड परीक्षा में लगभग छात्र-छात्राओं की संख्या 59 से अधिक मानी गई है इन सभी को लगभग तीन करोड़ पुस्तिकाओं की आवश्यकता पड़ेगी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में सभी छात्रों के लिए लगभग तीन करोड़ प्रश्न पुस्तिका तैयार कर ली है उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा 16 फरवरी से शुरू है सभी छात्र छात्राएं चिंतित है और अपने ज्ञान विद्या में लगे हुए हैं सभी छात्राओं का मानना है कि अगर हम सही प्रकार से पढ़ पाएंगे तो 90% से अधिक अंक प्राप्त कर पाएंगे सभी छात्राओं के मनों में डर का माहौल पैदा हुआ है।

इन नियमों को सही प्रकार से लागू करने के लिए पुख्ता इंतजाम कर लिया है नियम अनुसार परीक्षार्थियों की एंट्री सभी छात्र छात्राओं मेन गेट पर ही सर्च कर लिया जाएगा छात्र छात्राओं को किसी प्रकार की नकल सामग्री ना हो अगर किसी छात्र-छात्राएं के पास नकल सामग्री पाई जाती है तो उस नकल का जिम्मेदार उसका कक्ष निरीक्षक होगा परीक्षा कक्ष में किसी प्रकार की बातचीत या किसी प्रकार का कोई दृश्य प्रवृत्ति देखने को ना मिले उसके लिए कक्षा में वॉइस रिकॉर्डर तथा सीसीटीवी कैमरा का इंतजाम किया गया है सभी छात्र छात्राओं की टीवी कैमरा के माध्यम से की जाएगी सभी कक्षाओं में सीसीटीवी कैमरे सही प्रकार से कार्य कर रहे हो इस चीज की जिम्मेदारी विद्यालय के प्रधानाचार्य को दी गई है अगर किसी कक्ष मैं कोई सीसीटीवी कैमरा या कोई वॉइस रिकॉर्डर सही प्रकार से कार्य नहीं कर रहा होगा तो इसकी जिम्मेदारी प्रधानाचार्य पर होगी।

यूपी बोर्ड परीक्षा में होंगे नए नियम लागू :-

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के नियमानुसार कक्ष निरीक्षक उस विषय का नहीं होगा जिसका प्रश्न पत्र होगा कक्ष निरीक्षक की जिम्मेदारी उस कक्ष में बैठे सभी छात्रों की होगी एक कक्ष में दो या तीन कक्ष निरीक्षक होंगे जिस कक्ष में है 40 छात्रों से अधिक छात्र होंगे उसमें कक्ष निरीक्षक की गई ड्यूटी होगी सभी छात्रों को सही प्रकार से अनुक्रमांक क्रमानुसार बैठने की व्यवस्था की जाएगी कक्षा में किसी प्रकार की बातचीत ना हो उसके लिए वॉइस रिकॉर्डर का पुख्ता इंतजाम किया गया है छात्र एक दूसरे की प्रश्नपत्रिका को ना देखें इसके लिए भी सीसीटीवी कैमरों की निगरानी परीक्षाओं का निर्देशन होगा यह भी कहा जाता है कि कक्षा में एक दूसरे की प्रश्न पुस्तिका को बदलाव ना करें उसके लिए शिक्षा बोर्ड में पुस्तिका के प्रत्येक पेज पर छात्र को अपना अनुक्रमांक लिखना होगा प्रश्न पत्र पर भी छात्र को अपना अनुक्रमांक एवं अपना नाम लिखना होगा कक्ष निरीक्षक की यह जिम्मेदारी होगी कि कोई भी छात्र किसी प्रकार की सामग्री ना लाएं

 कक्ष निरीक्षक के लिए नियम :-

उत्तर प्रदेश के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड में कक्षा को लेकर अलग-अलग प्रकार के नियमों का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है उसने व अनुसार प्रत्येक शिक्षक को यह जिम्मेदारी दी गई है कि कक्षा में आने से पहले सभी छात्रों की सही प्रकार से जांच पड़ताल कर ले जाए छात्राओं के पास किसी प्रकार की नकल सामग्री ना मिले इसके लिए उन्होंने सभी प्रकार के प्रश्न उत्तर जाम कर लिए हैं कक्षा का यह प्रस्ताव रखा गया है

अगर किसी कक्ष कक्ष में 40 छात्राओं से अधिक संख्या है तो उसमें दो कक्ष निरीक्षक के स्थान पर तीन कक्ष निरीक्षक रखें जाए ताकि किसी भी प्रकार का फेरबदल ना हो माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने यह प्रस्ताव प्रस्तुत भी किया है कि किसी भी प्रकार की सामग्री अगर किसी छात्राओं पर पकड़े जाते हैं उसके लिए उसकी कॉपी को सीज कर दिया जाएगा और उसको और परीक्षाओं से वंचित कर दिया जाएगा इस जिस कक्ष छात्र नकल के साथ पकड़ा जाएगा के साथ-साथ कक्ष निरीक्षक को भी कानून के तहत सजा का प्रावधान क्या गया है उत्तर प्रदेश की बोर्ड परीक्षा 16 फरवरी से शुरू हो रही है प्रथम प्रश्नपत्र हिंदी विषय का है परीक्षा शुरू होने में सिर्फ 15 दिन शेष रह गए हैं सभी छात्राओं के दिनों में परीक्षा के प्रति डर का माहौल बना हुआ है वर्ष 2022 में सभी छात्रों को तो बहुत किया गया था लेकिन वर्ष 2023 में छात्राओं को एक अलग ही अनुभव प्राप्त होगा।

 उत्तर प्रदेश सरकार ने नकल रोकने के किए सख्त इंतजाम :-

उत्तर प्रदेश सरकार वर्ष 2023 के बोर्ड परीक्षाओं को लेकर बहुत सख्त है उत्तर प्रदेश सरकार ने माध्यमिक शिक्षा बोर्ड को अलग-अलग प्रकार के निर्देश प्रस्ताव के हैं प्रदेश सरकार के नियमों के द्वारा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड भी चिंतित है कि किस प्रकार बोर्ड परीक्षा कराई जाए ताकि नकल एवं धोखे बाजो से सावधान रहा जाए इसी प्रकार की बोर्ड परीक्षाओं में कोई प्रकार की गड़बड़ी ना हो इसके लिए सरकार अलग-अलग तरह के कानून एवं अलग-अलग तरह की कोशिश कर रही है ताकि धांधली बाजी ना हो बोर्ड परीक्षाओं के लिए बनाए गए सेंटरों के प्रधानाचार्य एवं जिले के आला अधिकारियों को कड़े से कड़े निर्देश दिए गए हैं।

शिक्षकों का कहना है कि पिछले वर्ष में प्रमोट किए गए छात्रों तेरे कोई चिंताजनक बात नहीं थी लेकिन इस बार सभी परीक्षार्थियों को एक नया अनुभव मिलेगा जिलों के आला अधिकारियों का कहना है कि इस बार बोर्ड परीक्षाओं में किसी प्रकार की नकल सामग्री अगर पाई गई तो उसका जिम्मेदार कक्ष निरीक्षक एवं विद्यालय का प्रधानाचार्य होगा सभी प्रकार की विंडो एवं दरवाजों को सही प्रकार से बंद कर दिया गया है प्रत्येक कक्ष में सीसीटीवी कैमरा एवं वॉइस रिकॉर्डर का इंतजाम किया जाए अगर किसी भी कक्षा सीसीटीवी कैमरा वॉइस रिकॉर्डर सही प्रकार से काम करता नहीं पाया गया तो उसका जिम्मेदार प्रधानाचार्य होंगे

निर्देश परीक्षा से 15 दिन पहले ही दे दिया गया है ताकि जो भी कोई कमियां है प्रधानाचार्य सही प्रकार से कक्षा के सभी सीसीटीवी कैमरे एवं वॉइस रिकॉर्डर ठीक करा ले परीक्षार्थियों की जांच पड़ताल एंट्री गेट से पहले ही सही प्रकार से करें ताकि कोई भी छात्र किसी प्रकार की सामग्री को अपने साथ कक्षा में ना ले जा अगर किसी भी छात्र के पास किसी प्रकार की सामग्री अगर एग्जाम से रिलेटेड मिलती है तब उसका जिम्मेदार छात्र एवं कक्ष रक्षक होगा छात्र को परीक्षा से वंचित कर दिया जाएगा और उसकी प्रश्न पुस्तिका सील कर दी जाएगी और कक्ष निरीक्षक को भी 3 साल की जेल और जुर्माना कानून के तहत दिया जाएगा इसलिए सभी इन बोर्ड परीक्षाओं से सहमे हुए हैं।

छात्र छात्राओं के लिए महत्वपूर्ण निर्देश :-

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने छात्र-छात्राओं के लिए एक अलग प्रकार के नियम बनाए हैं सभी छात्र छात्राओं का यह मानना है कि इस बार के नियम वित्तीय वर्ष से अलग नियम है सभी छात्र छात्राएं इन परीक्षाओं को एक अलग प्रकार से ले रहे हैं इनका मानना है कि सरकार बोर्ड परीक्षाओं को लेकर बहुत सख्त है अगर छात्र-छात्राओं के पास किसी प्रकार की सामग्री पाई गई तो उसके जिम्मेदार खुद छात्र होंगे छात्रों को किसी प्रकार की भी सामग्री कक्षा में ले जाने के लिए अनुमति नहीं है छात्र-छात्राएं अपने प्रश्न पुस्तिका एवं उत्तर पुस्तिका अनुक्रमांक एवं नाम सही प्रकार से डालें

अगर किसी प्रकार की गलती हुई तो उसका जिम्मेदार भी छात्र होगा बोर्ड परीक्षाएं 16 फरवरी से शुरू हो रही हैं प्रथम पाली का सही समय 8:00 बजे है सभी छात्र छात्राओं को 7:00 बजे अपने विद्यालय पहुंचना होगा सातवीं कक्षा में अपनी सीट पर बैठना होगा कोई छात्र 8:00 या उससे बाद में आता है तो उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी और परीक्षा छूटने का कारण सिर्फ छात्र होगा इसलिए सभी छात्रों को 7:30 बजे तक अपने विद्यालय में पहुंच जाना है और अपने अनुक्रमांक के सीट को प्राप्त कर लेना प्रकार की बातचीत ना करने की अनुमति है अपने प्रश्न पुस्तिका एवं उत्तर पुस्तिका को किसी विद्यार्थी के साथ शेयर ना करें अगर ऐसा करता हुआ कोई छात्र पाया जाता है तो उसका जिम्मेदार खुद छात्र होगा इस वजह से वह अपनी कॉपी सील करा सकता है किसी कक्षा में विद्यार्थी आपस में बात ना करें इसकी जिम्मेदारी कक्ष निरीक्षक को दी जाएगी

 

 

 

 

 

Leave a Comment